Wednesday, May 28, 2008

और यह मसि कागद !

डॉ चंद्रकुमार जैन ब्लागजगत में मई 2007 से आए हैं । मूलतः कवि हैं और कविताओं पर ही एक ब्लाग बनाया है। डॉक्टसाब की कविताएं बड़ी सहजता और सरलता से जीवन को सभी आयामों मे देखती हैं और जो हासिल होता है वह है एक निर्लिप्त, गहन मगर संतोषी आशावाद । डॉक्टसाब की यही खूबी नहीं है, एक और खूबी है उनकी टिप्पणियां जो कविता की ही भांति हम सब लिखने वालों में आशा का संचार करती हैं। ऐसी टिप्पणियां ब्लागजगत में विरल हैं। चंद्रकुमारजी ने हाल ही में एक और ब्लाग बनाया है मसि कागद । इस स्थान पर हमें हिन्दी रचनाकारों के सुभाषित, जीवन-दर्शन को जानने का मौका सुलभ कराने के लिए हम उनका आभार व्यक्त करते हैं। अभी यह ब्लाग किसी एग्रीगेटर पर नहीं है मगर जल्दी ही आ जाएगा। इस बीच आप सब एक बार यहां का चक्कर ज़रूर लगाएं। यहां पेश है वह भूमिका जो डॉक्टसाब ने अपने ब्लाग पर लिखी है।

और यह मसि कागद !

न मसि न कागद,फिर भी मसि कागद !
तो ये है मेरी एक नई कोशिश......!!

मसि-कागद वाले लिख-लिख कर थक गए पर
निर्गुनिया बाबा कबीर की
साखी की सीख का बयान पूरा न कर सके.
फिर भी........ हर कोशिश .........हर पहल का
अपना महत्त्व है.
इस चिट्ठे के ज़रिए कुछ अपने और
ज्यादा उन कलमकारों के सुभाषित
और मर्मस्पर्शी विचार आप सब से
साझा करना चाहता हूँ जिनके लिए मसि कागद
वास्तव में सृजन और जीवन का पर्याय बन गया.

------------------------------------
बहरहाल इतना ही। बात स्वयं बोलेगी !

10 कमेंट्स:

Lavanyam - Antarman said...

डॉ चंद्रकुमार जैन : एक से बढकर एक काव्य टिप्पणीयोँ के हम कायल हैँ अब "मसि - कागद" भी अवश्य देखेँगेँ - इस का लिन्क देने के लिये शुक्रिया -

Udan Tashtari said...

डॉ चंद्रकुमार जैन जी को पढ़ रहा हूँ लगातार ब्लॉग और टिप्पणियों क माध्यम से. अनोखी प्रतिभा के धनी हैं. मेरी शुभकामनायें इस नये प्रयास के लिए. बहुत कुछ सीखेंगे उनसे. आपका आभार.

अरुण said...

सु स्वागतम हमे एक गुरू और मिला जिसकी कविताओ को पढकर हमे और ज्यादा तुक बंदी का अवसर मिलने वाला है,

Sanjeet Tripathi said...

डॉक्टर साहिब की कविताओं पर कुछ कहना छोटा मुंह बड़ी बात होगी।

शुभकामनाएं उनके नवप्रयास के लिए!

बाल किशन said...

डाक्टर साहब जिस तरीके से हौसला अफजाई करते है वो काबिले तारीफ है.
अभी बहुत कुछ सिखाना है उनसे.
अब इस ब्लॉग के माध्यम से हमलोगों का ज्ञान वर्धन और हौसला बढ़ने का उनका ये एक और प्रयास है.
बहुत बहुत शुभकामनाएं.

Himanshu Jain said...

Congratulations to Dr. Chandrakumar ji Jain and Thanks to Shri Ajit ji. Undoubtebly you people are doing a great job in the field of Hindi Blogging.

Regards
Himanshu Jain
IIT Bombay

दिनेशराय द्विवेदी said...

चन्द्रकुमार जैन की टिप्पणियों के हम भी कायल है।
उन की सुन्दरता से घायल हैं,
टिप्पणियाँ बजती हैं जैसे पायल है।
डॉ.चन्द्र कुमार जैन को नए ब्लाग के लिए बधाई।

Dr. Chandra Kumar Jain said...

आ.लावणया बहन
समीर जी
अरुण जी
प्रिय सन्जीत जी
बलकिशन जी
हिमांशु
और.....
आ.द्विवेदी जी,
आप सब का आभार !
==================================
मसि-क़ागद में,प्रेरक,प्रभावशाली और
भावों-विचारों की ऊर्जा से भीतर तक असर पैदा
करने वाली लेखनी के सर्वोत्तम को सामने लाने की
कोशिश रहेगी...शब्द-संसार से सत्य-शिव-सुंदर चुन लेने और सारी दुनिया में उसे लुटा देने वाले सचमुच कितने बड़े दाता हैं !
उनके अवदान के प्रति यह गंभीर व
उत्तरदायी पहल हो.... ध्यान रखूँगा.

साभार
डा.चंद्रकुमार जैन

Dr. Chandra Kumar Jain said...

....और हाँ द्विवेदी जी
आपके क़ायल...घायल...पायल के क्रम में
मेरी ओर से यही कि आप इंसान बहुत रायल हैं !
================================
पुनः धन्यवाद
चंद्रकुमार जैन

मीनाक्षी said...

masi kaagad par post to pad li lekin tippiniyoin ki baat to nirali lagi. aajkal kuch fursat mili to ek saath bahut kuch pad gaye ,,,bahut kuch reh bhi gaya hai...

नीचे दिया गया बक्सा प्रयोग करें हिन्दी में टाइप करने के लिए

Post a Comment


Blog Widget by LinkWithin