Thursday, July 30, 2009

किरमिज, कीड़ा और लाल रंग…

r Crimson_Rose_by_OrangeRoom
रं गों की दुनिया में लाल रंग का बड़ा महत्व है। यह जीवन का, लालित्य का, आनंद का प्रतीक है। गौर करें, रक्त भी लाल होता है और इसे जीवन का प्रतीक कहते हैं। इसीलिए खुशी के फूट पड़ने के क्षण में चेहरा लाल हो जाता है। जाहिर है यह रक्त की ही आभा होती है। कहा जा सकता है कि आनंद का संचार यानी जीवन का संचार है। जब जीवन में विषाद का क्षण आता है तो चेहरे का रंग फक पड़ जाता है जिसे चेहरा सफेद होना जैसे मुहावरे से व्यक्त किया जाता है।
लाल रंग को किरमिजी रंग भी कहते हैं। यह शब्द अरबी ज़बान से हिन्दी में आया है। दरअसल किरमिज एक कीड़ा होता है (Kermes ilicis) जिससे लाल रंग स्रावित होता है। इसे लाख का कीड़ा भी कहा जाता है। यह कीड़ा शुष्क जलवायु में पाए जाने वाले झाड़ीदार पौधों पर पनपता है और उनकी पत्तियों को अपना भोजन बनाता है। अरबी का किरमिज शब्द दरअसल संस्कृत के कृमिजा शब्द से बना है। कृमिजा का अर्थ होता है लाल रंग को जन्म देने वाला यानी उत्पादन करने वाला कीड़ा। संस्कृत में कृमि का अर्थ कीड़ा भी होता है और लाख भी होता है। गौरतलब है कि लाख भी लाल ही होती है।
रबों ने जब स्पेन पर कब्जा किया तो किरमिज शब्द स्पेन जा पहुंचा। स्पेनिश भाषा में किरमिज के साथ लैटिन का मिनियम शब्द भी जुड़ गया इस तरह qirmiz + minium से मिलकर बना क्रिमेसिन cremesin जिसका मतलब स्पेनिश में लाल

IMG_0582 ... संस्कृत के कृमि से ही अरबी भाषा का किरमिज शब्द बना है...

रंग होता है। इससे ही बना लाल रंग के लिए अंग्रेजी का क्रिमसन शब्द। लैटिन भाषा में मिनियम का मतलब होता है किसी पेंटिंग में लाल रंग भरना। अल्पतम के लिए मिनिमम और लघुचित्रों के लिए मिनिएचर शब्द इससे ही बने हैं। कृमि का ही एक अलग रूप लैटिन के वर्मिस vermis है जिसका अर्थ भी कृमि या कीड़ा होता है। किरमिज की तरह ही वर्मिस में मिनियम जुड़ने से बना वर्मिलियन vermilion जिसका मतलब भी लाल रंग ही होता है। किरमिज का लैटिन रूप हुआ कारमाईन और इसमें भी लालिमा का भाव है।
हिन्दी में किरमिच शब्द का प्रयोग एक अन्य अर्थ में भी होता है। देहात में आज भी एक किस्म के मोटे कपड़े को किरमिच ही ही कहा जाता है जैसे तिरपाल का कपड़ा या केनवास। मोटे कपड़े से बने जूते केनवास या किरमिच के जूते कहलाते हैं। केनवास शब्द अंग्रेजी का है और ग्रीक भाषा के कैनाबिस से बना है जिसका मतलब होता है भांग का पौधा। कैनाबिस का मूल रूप फारसी के कनाब से बना है। ईरान, अफ़गानिस्तान और भारतीय क्षेत्र में भांग प्राचीनकाल से ही बहुतायत में होती रही है। यूरोपीय लोगों ने भांग के पौधे से निकलने वाले रेशों से पैकिंग के काम आनेवाले कपड़े का निर्माण शुरू किया जिसे लोगों ने कैनवास कहना शुरू कर दिया। संभवतः किरमिच शब्द इसी से बना है।

ये सफर आपको कैसा लगा ? पसंद आया हो तो यहां क्लिक करें

12 कमेंट्स:

डॉ. मनोज मिश्र said...

जानकारी भरी पोस्ट .

गिरिजेश राव said...

अद्भुत!

शब्दों के कैसे कैसे उत्स हैं। यह पूरी श्रृंखला पुस्तक रूप में कब छप रही है? ब्लॉग जगत से जो लोग परिचित नहीं हैं, उन्हें भी तो अपनी शब्द सम्पदा का ज्ञान हो!

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

दीवाली के दिनों में जानवरों को रंगने के लिए एक मिट्टी का लाल रंग बिकने आता है जिसे हिरमिच बोलते हैं। उस का नामकरण भी कहीं संबद्ध तो नहीं?

जीवन सफ़र said...

रंगों की दुनिया का सबसे खूबसूरत रंग- लालरंग की पहचानयात्रा बहुत ही रोचक लगी यहां अर्जेन्टीना में लालरंग के लिये रोखो शब्द प्रचलित है!

हिमांशु । Himanshu said...

जीवन्त रंग का जीवन्त शब्द विवरण । आभार ।

शोभना चौरे said...

lal rang jeevndayi hai bharteey prmprao me lal rang ko mhilao ka saoubhagy suchak mante hai jaise mathe par lgi lal bidi lal chunar lal chudiya aadi adi .gavo me bachpan me dekha tha
barsad ke bad ak lal rang ka keeda paya jata tha kreeb makhi se thoda bada vo jmeen pa chlta tha aur uska badan bilkul lal makhmal ke sman hota tha .hindi me usko kya khte hai pta nhi par nimadi me use 'gogalgay "kahte the ham usemachis ki dibbi me sagrah karte the aur jb dibbi bhar jati to unhe chod dete the .surkh lal rang hota tha .

शोभना चौरे said...

lal rang jeevndayi hai bharteey prmprao me lal rang ko mhilao ka saoubhagy suchak mante hai jaise mathe par lgi lal bidi lal chunar lal chudiya aadi adi .gavo me bachpan me dekha tha
barsad ke bad ak lal rang ka keeda paya jata tha kreeb makhi se thoda bada vo jmeen pa rchlta tha aur uska badan bilkul lal makhmal ke sman hota tha .hindi me usko kya khte hai pta nhi par nimadi me use 'gogalgay "kahte the ham usemachis ki dibbi me sagrah karte the aur jb dibbi bhar jati to unhe chod dete the .surkh lal rang hota tha .

अजित वडनेरकर said...

@दिनेशराय द्विवेदी
सही कह रहे हैं आप। हिरमिच शब्द किरमिच से ही परिवर्तित है। मालवी में भी इसका यही उच्चारण है।

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

"लाल रंग को किरमिजी रंग भी कहते हैं।"
पोस्ट सामान्यज्ञान बढ़ाने में सहायक रही।

dhiru singh {धीरू सिंह} said...

किरमिज तो आज ही जाना . रामरज भी होता है पीला रंग हमारे यहाँ .

िकरण राजपुरोिहत िनितला said...

लाल रंग की यात्रा बहुत बढिया रही। वैसे राजस्थानी में लाल रंग को राता रंग भी कहा जाता है कैनवास किरमिज से बना है ये जानकर अच्छा लगा।

vinay vaidya said...

अंग्रेजी में एक शब्द है : 'वोर्म'( डब्ल्यू ओ आर एम्), जर्मन में यही डब्ल्यू यू आर एम् , 'वुर्म' हो जाता है . मुझे लगता है की इसका सम्बन्ध भी 'कृमि' से है .

नीचे दिया गया बक्सा प्रयोग करें हिन्दी में टाइप करने के लिए

Post a Comment


Blog Widget by LinkWithin