Sunday, October 14, 2007

दीनार का चलता था सिक्का कभी..

दीनार शब्द को ज्यादातर भारतीय हिन्दी में मुस्लिम हमलावरों के साथ आया शब्द मानते हैं। दीनार का मतलब होता है एक स्वर्ण मुद्रा या अशरफी। मूलतः यह शब्द रोमन शब्द जन्मा है और क़रीब तीन सदी ईसा पू्र्व स्वर्ण मुद्रा के तौर पर इसका रोमन गणतंत्र में प्रचलन शुरू हुआ। रोम से ही दिनारियस अरब क्षेत्र मे दीनार के रूप में पहुंचा। किसी ज़माने में यह मुद्रा भारत में चलती थी मगर भारत में मुस्लिम शासन में दीनार का चलन नहीं रहा। मजे की बात यह है कि भारत से गायब होने के बावजूद हिंदी के शब्दकोशों में आज भी दीनार संस्कृत शब्द के रूप में स्वर्ण मुद्रा के अर्थ में विराजमान है, जबकि उर्दू- फारसी शब्दकोश में यह फारसी शब्द के तौर पर अशरफी बन कर जमा है। मगर इसके रोमन मूल का कहीं भी जिक्र तक नहीं है। हिन्दी में इसका एक रूप दिनार भी है।
संस्कृत में दीनार का उल्लेख दीनारः के रूप में मिलता है। भारतीय संस्कृति में दीनार किस हद तक रची-बसी थी इसका उल्लेख आठवी सदी में लिखे गए दशकुमारचरित में मिलता है जिसमें द्यूतक्रीड़ा (जूआ) के संदर्भ में उल्लेख है कि १६००० दीनारों की बाजी में द्यूत अध्यक्ष के निर्णयानुसार आधी राशि जीतनेवाले को और बाकी आधी राशि द्यूत अध्यक्ष व द्यूतसभा के कर्मचारी आपस में बांट सकते हैं।
रोम में भारतीय मसाले और मलमल की बेहद मांग रही थी। करीब पहली सदी ईसापूर्व से लेकर चौथी – पांचवीं सदी तकरोमन साम्राज्य से भारत के कारोबारी रिश्ते रहे। भारत के पश्चिमी समुद्र तट के जरिये ये कारोबार चलता रहा । भारतीय माल के बदले रोमन अपनी स्वर्ण मुद्रा `दिनारियस´ में भुगतान करते रहे। ये कारोबारी रिश्ते इतने फले- फूले की दिनारियस
`दीनार´ के रूप में लंबे अर्से तक लेन-देन का जरिया बनी रही। 98ई.में कनिष्क के जमाने का एक रोमन उल्लेख गौरतलब है:- भारत वर्ष हर साल रोम से साढ़े पांच करोड़ का सोना खींच लेता है । जाहिर है यह आंकड़ा रोमन स्वर्ण मुद्रा दिनारियस के संदर्भ में बताया जा रहा। अपने रोमन रूप में दीनार का मूल्य क़रीब साढ़े चार ग्राम स्वर्ण के बराबर था। आज दुनिया के तमाम मुल्कों में दीनार धातु की मुद्रा की बजाय कागज के नोट के रूप में डटी हुई है।
बाद के सालों में रोम से ऐसे ही कारोबारी रिश्तों के चलते दीनार ईरान और कुछ अरब मुल्कों में भी प्रचलित हुई और अब तक डटी हुई है। यही नहीं अरब मुल्कों समेत दीनार सर्बिया, युगोस्लाविया ,बोस्निया-हर्जेगोविना, अल्जीरिया, यमन, ट्यूनीशिया, सुडान और मोंटेनेग्रो जैसे देशों की भी राजकीय मुद्रा है।

4 कमेंट्स:

अनूप शुक्ल said...

दीनार रोमन शब्द है यह आज पता चला!

Udan Tashtari said...

बेहतरीन जानकारी...वैसे हमारे पास दीनार धरोहर के रुप में है कई पुश्तों से पास ऑन हो रही है. :)

काकेश said...

धन्यवाद पसंद बनाने के लिये भी और इतनी अच्छी जानकारी के लिये भी.

Shrish said...

अच्छी जानकारी, आभार इसे बांटने के लिए।

नीचे दिया गया बक्सा प्रयोग करें हिन्दी में टाइप करने के लिए

Post a Comment


Blog Widget by LinkWithin