Wednesday, December 16, 2009

जैकब, जैकेट और याकूब

 

breastplate द्री या सदरी का जो रूप आज ज्यादा चलन में है उसे हम जैकेट के नाम से ज्यादा जानते हैं। आम लोगों में खादी जैकेट ज्यादा लोकप्रिय है जिसे नेहरू जैकेट भी कहते हैं। जैकेट jacket हिन्दी में अंगरेजी से आया शब्द है मगर मूलतः इसके जन्मसूत्र सेमिटिक आधार से जुड़े हैं। जैकेट का रिश्ता यहूदी, ईसाई और इस्लामी ग्रंथों में उल्लेखित एक पौराणिक पात्र से भी है। अरबी के सक्क शब्द से जैकेट की व्युत्पत्ति मानी जाती है जिसका अर्थ होता है वक्षकवच या पेशबंद। स्पेनी भाषा में सक्क से बना jaco जिसका मतलब है कमर से ऊपर पहना जाने वाला एक छोटा वस्त्र। फ्रैंच में इसका रूप हुआ जैक jaque जिसका अर्थ है पुरुषों द्वारा पहना जाने वाला कोट। अग्रेजी का जैकेट इसका ही रूप है। एक अन्य मान्यता के अनुसार यह फ्रैंच भाषा से निकला शब्द है जिसके मूल में सेमिटिक आधार ही काम कर रहा है। वैसे यूरोपीय भाषाओं में जैक सर्वाधिक प्रयुक्त और बहुआयामी अर्थवत्ता रखनेवाले शब्दों में एक है। यहां जैक शब्द की व्यापकता पर नहीं बल्कि जैकेट के साथ रिश्तेदारी के संबंध में ही चर्चा की जा रही है। हां इतना जरूर है कि प्रसिद्ध नर्सरी गीत जैक एंड जिल और मशहूर कहावत जैक ऑफ ऑल ट्रेड्स का रिश्ता इससे ही है।
रअसल उत्तरी फ्रान्स के देहातियों के लिए मध्यकाल में जैक jaque शब्द प्रचलित था जो प्राचीन फ्रैंच के Jacques का छोटा रूप है। एक खास किस्म की फतूही या बंडी उनकी पोशाक का हिस्सा थी जो jaquette कहलाती थी। यह सम्बोधन उपहासात्मक था जैसे ग्रामीण के लिए हिन्दी में गंवार शब्द प्रचलित है। अब तो अभद्र या बेढंगे व्यक्ति के लिए गंवार शब्द रूढ़ हो गया है। बाद में छाती को ढक कर रखनेवाले वस्त्र के तौर पर यह (jaque) समूहवाची शब्द एक पोशाक का नाम बन गया। जैक jaque शब्द से ही जन्मा है अंगरेजी का जैक jack जो यूरोप व अमेरिका में मां-बाप के लिए अपने पुत्र के सर्वाधिक लोकप्रिय नामों में एक है। फ्रैंच के Jacques का उद्गम लैटिन के जैकोबस Jacobus से हुआ। जिसका ग्रीक रूप जैकोबॉस था। स्पेनिश में इसका रूप जैगो या इआगो हुआ। पुर्तगाली में यह डिएगो हो गया। दरअसल यह सेंट इआगो शब्द युग्म के सेंटियागो रूप से  हुआ। ग्रीक में इसकी आमद सेमिटिक परिवार की भाषा हिब्रू के याकूब या याकोव शब्द से हुई है। बाईबल में याकूब का रूप जैकब हो जाता है। इसाक व रेबेका की संतान और अब्राहम के पोते nehru याकूब दरअसल एक पैगम्बर थे और ईसाई, यहूदी और इस्लामी धर्मग्रंथो में उनका उल्लेख है। यहूदी धर्म के तीन प्रधान संरक्षकों में अब्राहम और इसाक के बाद उनका भी नाम आता है। उन्हें बारह प्रमुख जनजातियों का संस्थापक भी माना जाता है। वे अपने भाई इसाहू के साथ जुड़वां पैदा हुए थे। याकूब का अर्थ ya- aqab बताया जाता है जिसका मतलब हुआ पैर की ऐड़ी पकड़नेवाला। माना जाता है कि जन्म के समय याकूब ने अपने भाई की अक़ब यानी पैर की ऐड़ी थामी हुई थी।
जो भी हो, याकूब नाम की व्युत्पत्ति का यह आधार वास्तविक नहीं लगता। इसके ठीक उलट, ईसाई संदर्भों में जैकब का अर्थ सुरक्षित और महान बताया गया है। ध्यान रहे, प्राचीनकाल से ही दुनियाभर के जनसमुदायों में अपनी वंश परम्परा किसी महान पितृपुरुष से स्थापित करने की परिपाटी रही है जो आगे चलकर बहुत जटिल संरचना का रूप लेती चली गई। उच्चवर्ग और निम्न वर्ग के लोग एक साथ एक समान ऋषियों और देवताओं, जिन्हें वे अपना पितृपुरुष मानते हैं, से सम्बद्ध नजर आते हैं। भारत की जनजातियों में भी सूर्य और चन्द्र की वंश परम्परा दिखती है और कुलीनों में भी। तात्पर्य यही कि जैकब द्वारा स्थापित बारह जनजातियों अथवा गोत्रों में से किसी एक जातीय समूह की पहचान जैकब के नाम से हुई। ध्यान रहे, समूचे यहूदी समाज के संरक्षणकर्ता होने के भाव का ही एक रूप योद्धाओं द्वारा पहने जाने वाले जिरह-बख्तर यानी एक किस्म के अंगरखा में नजर आता है, जिसमें सीने की रक्षा के लिए लोहे की पट्टियां लगी होती थीं। यानी इस शब्द के धातु मूल में रक्षा का भाव प्रमुख है। प्रायः हर दौर में फौजी या राजसी पोशाकें कुछ परिवर्तन के साथ आम आदमी की पोशाक बनती रही है। ऐसा उच्चवर्ग से प्रभावित होने और रहन-सहन में कुलीनता का आभास कराने के लिए हुआ। यही बात फ्रांस के एक जनसमूह और उसकी पोशाक के संदर्भ में सामने आती है जिसे Jaque, Jacques के नाम से जाना गया जो अगरेजी में जैकेट यानी एक किस्म की बंडी या सदरी, कहलाया।

ये सफर आपको कैसा लगा ? पसंद आया हो तो यहां क्लिक करें

17 कमेंट्स:

Baljit Basi said...

आप गर्म आवरणों की चर्चा छेढ़ कर ऐसे ही हमारी सर्दी लंघा देना चाहते हैं. हम पंजाब के बहादर और तगढ़े लोग बहरी दिखावे में विश्वास नहीं करते. हम गर्म कपढ़े शरीर के अंदर ही डाल लेते हैं, मतलब अधिक सर्दी में शराब का सेवन बढ़ा लेते हैं. आप की ओर से ऐसे आवरणों का जिक्र भी जरूरी है.
यह हंसी की बात नहीं है, अंग्रेजी में तो ऐसे जुगाढ़ को "लिकर जैकेट" बोलते हैं. इसकी परिभाषा है :
"Liquor Jacket" refers to the phenomenon of not being able to feel cold while drunk. The term is synonymous with "Beer Jacket", but has a much nicer ring to it.- Urban Dictionary

गिरिजेश राव said...

लिक़र जैकेट तो खूब रहा। भाउ, इसे भी जगह दो ना।

मनोज कुमार said...

अच्छी जानकारी। धन्यवाद।

श्यामल सुमन said...

आपके आलेख बहुत ही ज्ञानवर्धक हैं मेरे लिए।

सादर
श्यामल सुमन
09955373288
www.manoramsuman.blogspot.com

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

मदिरा से सर्दी भगाना जानलेवा भी है। मत्तता में सर्दी का अहसास तो नहीं होता लेकिन वह कभी कभी मौत का कारण भी बन जाती है। पिछले बरस एक फौजी स्टेशन आया। ट्रेन लेट थी सर्दी बहुत वह वहीं खुले में पैग लगा कर सो गया और कभी नहीं उठा।

सुलभ सतरंगी said...

वाह यह "लिक़र जैकेट" भी खूब फेमस है

जैक तेरे रंग अनेक...

dhiru singh {धीरू सिंह} said...

हम तो एक ही याकूब को जानते है दिलीप कुमार के नाम से

Mansoor Ali said...

दिन लद गए सदरी के फेशन का ज़माना है,
सीना भी दिखाएंगे, सलमानों ने ठाना है,
लिक़र के ज़िकर ने तो पटरी ही बदल दी है,
छुपकर जिसे रहना है, वो शै तो ज़नाना है.

खुशदीप सहगल said...

अजित जी,

जैकेट पहनकर याकूब होने का मन कर रहा है...यानि आपके पैर छूने का...

जय हिंद...

अजित वडनेरकर said...

@मंसूर अली हाशमी
लिक़र के ज़िकर ने तो पटरी ही बदल दी है,
छुपकर जिसे रहना है, वो शै तो ज़नाना है.

क्या महीन बात कही है हाशमी साब, मज़ा आ गया।

rashmi ravija said...

अच्छी जानकारी...जैकेट शब्द की उत्पत्ति की...शुक्रिया

अजित वडनेरकर said...

@बलजीत बासी
सही कह रहे हैं, लिकर-जैकेट का जिक्र यहां बहुत जरूरी था। ये कसर आपने पूरी कर दी। शुक्रिया।

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ said...

जैक, जैकब, जैकेट का ये सिलसिला चलता रहे, बस इतनी ही कामना है।

--------
छोटी सी गल्ती जो बडे़-बडे़ ब्लॉगर करते हैं।
क्या अंतरिक्ष में झण्डे गाड़ेगा इसरो का यह मिशन?

डॉ टी एस दराल said...

लेख के साथ फोटो का सामंजस्य बहुत अच्छा लगा.

विष्णु बैरागी said...

अब जब भी जेकेट पहनूँगा तो आपकी यह पोस्‍ट याद आ जाएगी। बहुत खूब जानकारियां दी आपने।

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

यह जानकारी भी बढ़िया रही!

अभिषेक ओझा said...

लिकर-जैकेट भी रोचक रहा. मैं तो आउट डेटेड फील कर रहा हूँ इस शब्द को सुनकर :)

नीचे दिया गया बक्सा प्रयोग करें हिन्दी में टाइप करने के लिए

Post a Comment


Blog Widget by LinkWithin